Chhath geet lyrics hindi likha hua Download audio video pdf

Read and listen to best chhath geet with lyrics, audio, video and pdf file download. Written Lyrics of famous chhath geet of  Bihar.

Chhath geet lyrics likha hua – Download audio video pdf

Below you will read best written lyrics of chhath geet in hindi.

काच्चे ही बांस के बहंगिया – Chhath geet lyrics

काच्चे ही बांस के बहंगिया ,

बहंगी लचकत जाए,,,,,,,,,,,२

होए ना बलम जी कहरिया  ,

बहंगी घाटे पहुंचाए,,,,,,,,,,,,,२

कांच ही बांस के बहंगिया,

छठ पूजा विधि कहानी और महत्व

बहंगी लचकत जाए,,,,,,,,,,,,,२

बाट जे पूछे ना बटोहिया ,

बहंगी केकरा के जाय,,,,,,,,,,,२

तू तो आंध्र होवे रे बटोहिया ,

बहंगी छठ मैया के जाए,,,,,,,,,,,,,,२

वह रे जे बाड़ी छठी मैया ,

बहंगी उनका के जाए,,,,,,,,,,,,,,,,,,,२

कांच ही बांस के बहंगिया

बहंगी लचकत जाए,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,२

होए ना देवर जी कहरिया ,

बहंगी घाटे पहुंचाई ,,,,,,,,,,,,,२

वह रे जो बाड़ी छठी मैया

बहंगी उनका के जाए ,,,,,,,,,,,,२

बाटे जे पूछे ना बटोहिया

बहंगी केकरा के जाय ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,२

तू तो आन्हर  होय रे बटोहिया

बहंगी छठ मैया के जाए ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,२

वह रे जय भइली छठी मैया ,

बहंगी उनका के जाए,,,,,,,,,,,,,,,,,,,२

केलवा के पात पर उगे लन सुरुजमल

केलवा के पात पर उगे लन सुरुजमल झांके – झुके।

केलवा के पात पर उगे लन सुरुजमल झांके – झुके। ।

के करेलू छठ बरतिया से झांके – झुके।

के करेलू छठ बरतिया से झांके – झुके। ।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया के केकरा लागी,

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया के केकरा लागी। ।

 के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी।

 के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी। ।

हमरो जे बेटवा तोहन अइसन बेटावा से उनके लागी।

हमरो जे बेटवा तोहन अइसन बेटावा से उनके लागी। ।

से  करेली  छठ बरतिया से उनके लागी।

से  करेली  छठ बरतिया से उनके लागी। ।

अमरूदिया के पात पर उगे लन सुरुजमल झाके – झुके।

अमरूदिया के पात पर उगे लन सुरुजमल झाके – झुके। ।

के करेलू छठ बरतिया से झाके – झुके।

के करेलू छठ बरतिया से झाके – झुके।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया के केकरा लागी।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया के केकरा लागी।

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी।

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी। ।

हमरो जे स्वामी तोहन अइसन स्वामी से उनके लागी।

हमरो जे स्वामी तोहन अइसन स्वामी से उनके लागी।

से  करेली छठ बरतिया के उनके लागी।

से  करेली छठ बरतिया के उनके लागी।

नारियर के पात पर उगे लन सुरुजमल झाके – झुके।

नारियर के पात पर उगे लन सुरुजमल झाके – झुके। ।

के करेली छठ बरतिया से झांके – झुके।

के करेली छठ बरतिया से झांके – झुके। ।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया से केकरा लागी।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया से केकरा लागी।

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी।

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी।

हमरो जे बेटी तोहन बेटिया से उनके लागी।

हमरो जे बेटी तोहन बेटिया से उनके लागी।

से  करेली  छठ बरतिया से उनके लागी।

से करेली छठ बरतिया से उनके लागी।

Angana me pokhri khanaaib video

Chhath Ke Pawan Baratiya Song Lyrics

आगे माई बड़का भैया घटिया सजावेले हैं
अबे माई चुटका भैया जाई के बाजार ओखिया ले आवेले हैं
आगे माई अबके छठ के पर्व सुहावन हैं

आगे माई बड़के भाउजी ढेटवा पकावेले हैं
अब मझली भाउजी धोवे गोरा गाल मांग सजावेली हैं
आगे माई अबके छठ के पर्व सुहावन हैं

आगे माई अमृत भैया पियर झमकावेले हैं
अब पंकज भईया बनल कहर मांगी पहुचावेले हैं
आगे माई अबके छठ के पर्व सुहावन हैं

आगे माई अनु बिटिया छठ गीत गावेली हैं
अब अनीता तिबई जोड़ो दोनु हाथ
आगे माई अबके छठ के पर्व सुहावन हैं

 

छठ गीत – आठ ही के काठ के कोठरिया

आठ ही के काठ के कोठरिया  हो दीनानाथ , रूपे छा~ने लागल केवाड़।

आठ ही के काठ के कोठरिया हो दीनानाथ , रूपे छा~ने लागल केवाड़।

ताहि ऊपर चढ़ी सुतले हो दीनानाथ बांझी केवडूवा धइले ठाड़।

ताहि ऊपर चढ़ी सुतले हो दीनानाथ बांझी केवडूवा धइले ठाड़।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

पुत्र संकट पडल , मोरा हो दीनानाथ ओहिला केवडूवा धईले ठाड़।

पुत्र संकट पडल , मोरा हो दीनानाथ ओहिला केवडूवा धईले ठाड़।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

नैना संकट पड़ल मोरा हो दीनानाथ ओहिला केवडुआ धईले ठाड़।

नैना संकट पड़ल मोरा हो दीनानाथ ओहिला केवडुआ धईले ठाड़।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

काया संकट पडल मोरा हो दीनानाथ ,ओहिला केवडुआ धईले ठाड़।

काया संकट पडल मोरा हो दीनानाथ ,ओहिला केवडुआ धईले ठाड़।

बांझीनी के पुत्र जब , दिहले दीनानाथ खेलत-कुदत घर जात।

बांझीनी के पुत्र जब , दिहले दीनानाथ खेलत-कुदत घर जात।

अन्हरा के आंख दिहले कोढ़िया के कायावा हसत बोलत घर जात।

अन्हरा के आंख दिहले कोढ़िया के काया

गीत – मारबो रे सुगवा

ऊ जे केरवा जे फरेला खबद से, ओह पर सुगा मेड़राए।
मारबो रे सुगवा धनुख से, सुगा गिरे मुरझाए।
ऊ जे सुगनी जे रोएली वियोग से, आदित* होई ना सहाय॥

ऊ जे नारियर जे फरेला खबद से, ओह पर सुगा मेड़राए।
मारबो रे सुगवा धनुख से, सुगा गिरे मुरझाए।
ऊ जे सुगनी जे रोएली वियोग से, आदित होई ना सहाय॥

अमरुदवा जे फरेला खबद से, ओह पर सुगा मेड़राए।
मारबो रे सुगवा धनुख से, सुगा गिरे मुरझाए।
ऊ जे सुगनी जे रोएली वियोग से, आदित होई ना सहाय॥

शरीफवा जे फरेला खबद से, ओह पर सुगा मेड़राए।
मारबो रे सुगवा धनुख से, सुगा गिरे मुरझाए।
ऊ जे सुगनी जे रोएली वियोग से, आदित होई ना सहाय॥

ऊ जे सेववा जे फरेला खबद से, ओह पर सुगा मेड़राए।
मारबो रे सुगवा धनुख से, सुगा गिरे मुरझाए।
ऊ जे सुगनी जे रोएली वियोग से, आदित होई ना सहाय॥

सभे फलवा जे फरेला खबद से, ओह पर सुगा मेड़राए।
मारबो रे सुगवा धनुख से, सुगा गिरे मुरझाए।
ऊ जे सुगनी जे रोएली वियोग से, आदित होई ना सहाय॥

 

Final words on chhath geet lyrics

These songs and their lyrics are written for the purpose of entertainment of people. In Bihar and even all over the world Chhath festival is celebrated with great energy. Songs are the backbone of any celebration. That is why we bring to chhath geet lyrics in hindi so that you can read and enjoy every geet and songs on your festival.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *